Sardar Vallabhbhai Patel - Essay, statue,jayanti and History in Hindi 


Sardar Vallabhbhai Patel


आज आप जानेंगे Sardar Vallabhbhai Patel Biography, Sardar Vallabhbhai Patel Essay, और Sardar Vallabhbhai Patel History in Hindi




Sardar Vallabhbhai Patel का पूरा नाम वल्लभभाई झवेरभाई पटेल था पर बाद में वह सरदार पटेल के नाम से लोकप्रिय हुए वह एक भारतीय राजनीतिक में भी थे उन्होंने सबसे पहले उप प्रधानमंत्री के रूप में भी अपना योगदान दिया था।


वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे वह लोखंडी पुरुष के नाम से भी देश में जाने जाते थे वह बहुत समझदार और सबसे गणमान्य नेता थे।


Sardar Vallabhbhai Patel का जन्म गुजरात के नडियाद में हुआ था वह एक लेवा पाटीदार से आए थे सरदार पटेल की माता का नाम लाडवा देवी था और उनके पिता का नाम झवेरभाई पटेल था


वह अपने माता-पिता की चौथी संतान थे उनके आगे उनको तीन भाई थे सोमाभाई नरसी बाई और विट्ठलभाई उन्होंने मुख्यतः स्वाध्याय से पढ़ाई की थी और बाद में वह लंदन जाकर उन्होंने बैरिस्टर की शिक्षा प्राप्त की


और बाद में Sardar Vallabhbhai Patel अहमदाबाद में वकीलात करने लगे और उन्होंने महात्मा गांधी के विचारों से समर्थन करके भारतीय आजादी की लड़ाई में अपना योगदान दिया था और वल्लभ भाई ने ही राजा रजवाड़ों का एकीकरण करके पूरे देश को साथ लाने का काम किया था वह बहुत गणमान्य देश नेता थे।


Sardar Vallabhbhai Patel statue :


भारत के प्रथम उप प्रधानमंत्री और भारत के प्रथम गृह मंत्री रह चुके Sardar Vallabhbhai Patel को समर्पित दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति गुजरात राज्य में मौजूद है।


उसे स्टेचू ऑफ यूनिटी भी कहा जाता है और उसका खुद हमारे माननीय बड़ा प्रधान नरेंद्र मोदी ने शिलायान्स करवाया था वह एक विशालकाय प्रतिमा है। यह दुनिया की S.C.O. के आठ अजूबों में भी शामिल की गई है वह विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति में से एक है और यह 182 मीटर लंबी है।


उसके निर्माण में लगभग 3000 करोड़ लगाए गए हैं और वह Sardar Vallabhbhai Patel के जन्मदिन 31 अक्टूबर 2018 को सरदार को समर्पित की गई थी। वह अपनी आदमी विशेषताओं भी दर्शाती है उसे देखने के लिए दिन के 15,000 से ज्यादा विजिटर्स आते हैं


और देश ही नहीं विदेश के लोग भी उसे देखने के लिए आते हैं और 2018 और 2019 में लगभग 2.8 मिलियन से भी अधिक लोग इसे देखने के लिए आए थे।


Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti :


सरदार वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 में हुआ था और उन्होंने 15 दिसंबर 1950 में अपना देह त्याग कर दिया था। वह कप भारत के इतिहास के सबसे महान और लोकप्रिय नेता थे।

वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता और भारतीय गणराज्य के संस्थापक पिता थे। जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए देश के संघर्ष में अपने आदमी भूमिका निभाई थी और उन्होंने ही राष्ट्रीय एकीकरण करवाया था

भारत में कहीं जगह पर उनको हिंदी उर्दू और फारसी भाषा में सरदार कहा जाता था। यानी प्रमुख इसकी वजह से सब पटेल को सरदार वल्लभभाई पटेल कहने लगे थे

और उन्होंने खेड़ा संघर्ष में भी अपना योगदान दिया था और उन्होंने बारडोली सत्याग्रह में भी बापू का साथ निभाया था।

उन्होंने भारत में जो कहीं साल से राजा महाराजाओं का जो शासन चल रहा था उसमें से पूरे देश को एक करने के लिए राजा महाराजा अपने राज्यों को सरकार के हाथों सौंपा ना का काम किया था

और आज सरदार वल्लभ भाई पटेल के सम्मान में कई जगहों को बनवाया गया है। गुजरात के अहमदाबाद में हवाई अड्डा का नाम सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र रखा गया है 

और गुजरात में ही वल्लभ विद्यानगर में जो सरदार पटेल विश्वविद्यालय मौजूद है और इसी तरह Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti को भी मनाया जाता है और योगदान को याद किया जाता है।


Sardar Vallabhbhai Patel National Police Academy :


Sardar Vallabhbhai Patel National Police Academy भारत के हैदराबाद में स्थित है वह एक भारतीय पुलिस सेवा आईपीएस अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए भारतीय राष्ट्रीय संस्थान है।

यहां प्रशिक्षण के बाद इन अधिकारियों को उनकी ड्यूटी करने के लिए संबंधित भारतीय राज्य कैडर जो उच्च परिषद प्रशिक्षण के हेतु सैनिक और कर्मचारियों का समूह है।

वहां भेजा जाता है और Sardar Vallabhbhai Patel National Police Academy की स्थापना 15 सितंबर 1848 में की गई थी और उसका हेतु अधिकारी प्रशिक्षण का था और इस अकादमी का मुख्यालय गृह मंत्रालय नई दिल्ली में स्थित है।

इस Sardar Vallabhbhai Patel National Police Academy का नाम इसीलिए सरदार वल्लभभाई पटेल दिया गया। क्योंकि पटेल ही वह व्यक्ति थे जिन्होंने ऑल इंडिया सर्विस इसका निर्माण करवाया

और आईपीएस अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण करने हेतु एक प्रशिक्षण संस्था की स्थापना भी करवाई।


Sardar Vallabhbhai Patel Hospital :


सरदार पटेल को याद करने के लिए उनके नाम की एक हॉस्पिटल भी बनाई गई है। Sardar Vallabhbhai Patel Hospital गुजरात के अहमदाबाद में स्थित है।

अहमदाबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च काशी लायंस 17 जनवरी 2019 में किया गया था। Sardar Vallabhbhai Patel Hospital मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल है

या 18 मंजिला इमारत है और यह आज की आधुनिक सुविधाओं से सज्ज है और यह अस्पताल की खासियत यह भी है कि इसकी 18 वीं मंजिल की छत पर एयर एंबुलेंस की सुविधा भी मुहैया कराई गई है।

जहां पर इमरजेंसी होने पर हेलीकॉप्टर को लैंड करवाया जा सके यह अस्पताल 1.10 मिलियन वर्ग मीटर चौड़ा है और यह 18 फुटबॉल के मैदान के बराबर है और Sardar Vallabhbhai Patel Hospital राज्य की बेहतरीन अस्पतालों में से एक अस्पताल है और इसका खर्च लगभग 750 करोड़ आया था।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post