Alauddin khilji ( अलाउद्दीन खिलजी )

आज आप जानेंगे Alauddin Khilji tomb, Alauddin Khilji Wife, और Alauddin Khilji Movie & History in Hindi


Alauddin-khilji
Alauddin Khilji

Alauddin Khilji के पिता का नाम शाहबुद्दीन मसूद था और अलाउद्दीन खिलजी का बचपन का नाम अली "गुरुशास्प" था वह दिल्ली के सल्तनत के खिलजी वंश का दूसरा शासक था ।

उसका पूरा साम्राज्य भारत के उत्तर भारत मध्य भारत और अफगानिस्तान तक फैला हुआ था और उसके बाद कोई और अगले 300 साल तक अपना इतना बड़ा साम्राज्य बना नहीं पाया था।

और इसमें से मेवाड़ और चित्तौड़ का युद्ध इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण घटना मानी जाती है और ऐसा माना जाता है कि, 


अलाउद्दीन खिलजी चित्तौड़ की रानी पद्मिनी की सुंदरता पर मोहित हो गया था और उसका पूरा वर्णन मलिक मोहम्मद जायसी ने अपनी रचना पद्मावत में किया है और भारत में इसकी कहानी बताने के लिए पद्मावत फिल्म भी बनाई गई है और उसके युद्ध का पूरा वर्णन भी किया गया है। इसमें दीपिका पदुकोण है रानी पद्मिनी का रोल निभाया है और रणवीर सिंह ने अलाउद्दीन खिलजी का रोल निभाया है।


Alauddin Khilji वंश ने पूरे हिंदुस्तान में 1296 से लेकर 1316 तक शासन किया था। अलाउद्दीन खिलजी का राज्य अभिषेक 1296 में हुआ था।

Alauddin Khilji का बचपन का नाम अली गुरुशास्प था और उसका जन्म 1266 में हुआ था और उसका निधन भारत के दिल्ली में हुआ था और दिल्ली में उसकी समाधि भी बनाई गई थी 

 उसकी चार पत्नियां थी पहली पत्नी मल्लिका यजा दूसरी महरु वह अल्प खान की बहन थी। अल्प खान ने कामगोल आक्रमण के दमन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और तीसरी पत्नी का नाम था कमला देवी वह कर्ण की पूर्व पत्नी थी

कर्ण गुजरात के वाघेला राजा करना है। जिन्हें कर्णदेव रायकर्ण भी कहा जाता है और चौथी पत्नी थी वह यादव राजा की बेटी थी।

Alauddin Khilji को चार संतान थी खिज्र खान, शादी खान, कुतुबुद्दीन मुबारक शाह और शाबुदीन उम्र और Alauddin Khilji धर्म से सुन्नी इस्लाम से था।


Alauddin khilji tomb :-


Alauddin Khilji का यह  tomb दिल्ली में स्थित है।वह कुतुब मीनार से सटे परिसर में है। अलाउद्दीन खिलजी का मदरसा भी वहां पर है। इसका निर्माण पारंपरिक तालीम देने के लिए अलाउद्दीन खिलजी द्वारा ही करवाया गया था।

दक्षिणी हिस्से के बीच में शायद खिलजी का मकबरा भी है। मदरसे के साथ मकबरा का चलन है या हिंदुस्तान में सबसे पहले हुआ था। वह Alauddin Khilji द्वारा ही करवाया गया था।

जिसे देखने के लिए हर साल लाखों देशी-विदेशी पर्यटक आते रहते हैं और Alauddin Khilji वही मकबरे में दफन है मुगल वंश के कुतुबुद्दीन ऐबक ने इस विशालकाय मीनार की नींव रखी थी।

पर आज मदरसे की छत और दीवार का बहुत बुरा हाल है। इस मदरसे के निर्माण सुल्तान खिलजी ने इस्लामिक तालिम को बढ़ावा देने के लिए करवाया था।

Alauddin Khilji अपने समय का सबसे बुरा शासक था जिसका पूरे देश में वर्चस्व था लेकिन कहा जाता है कि वह आखिरी दिनों में काफी दर्द भरी मौत से मरा था।

क्योंकि वह बहुत क्रूर था इसीलिए उसको बहुत लोगों की बद्दुआ भी लगी थी वह आखरी समय में भयंकर बीमारी से ग्रस्त हो गया था और उसकी मौत बेहद दर्दनाक बन गई थी।


Alauddin khilji wife :-


Alauddin Khilji की 4 पत्नियां थी उसकी दो हिंदू और दो मुस्लिम पत्नियां थी। हालांकि उस वक्त हिंदू शब्द इतना प्रचलित नहीं हुआ था।

 जितना आज है 1296 दिल्ली के सुल्तान बने Alauddin Khilji के जीवन के रिकॉर्ड मौजूद है एक राजपूत राजा की पूर्व पत्नी और दूसरी यादव राजा की बेटी थी वह दोनों ही हिंदू थी।


1. कमला देवी :-

कमला देवी गुजरात के राजपूत राजा की पत्नी थी 1299 में Alauddin Khilji की सेनाओं ने गुजरात पर बड़ा हमला किया था। इस हमले में राजा वाघेला राजपूत राजा कर्ण वाघेला की बुरी तरह हार हुई थी।

इस कारण उसने इस हार में कर्ण ने अपने राज्य और संपत्ति के साथ अपनी पत्नि को भी खो दीया था और कर्ण की पत्नी से Alauddin Khilji ने विवाह कर लिया था। मकरंद मेहता की पुस्तक पद्मनाभ में इसका उल्लेख किया गया है।


2. यादव राजा की बेटी ( झत्यपली देवी ) :-

Alauddin Khilji का कड़ा का गवर्नर रहते हुए साल 1296 में देवी गिरी महाराष्ट्र का दौलताबाद आज का में यादव राजा रामदेव पर आक्रमण किया था।

खिलजी के हमले के बाद रामदेव ने Alauddin Khilji के सामने समर्पण कर दिया था और इसमें किसी को दौलत भी मिली थी रामदेव ने अपनी बेटी झत्यपली देवी का विवाह भी करवाया था।

और उसका जिक्र उस समय के लेखक जियाउद्दीन बरनी के किताब में भी मिलता है। उस किताब का नाम तारीख ए फिरोजशाही है।

और दो जो मुस्लिम पत्नी थी उसका नाम मल्लिका ए जहां था जो Alauddin Khilji की बेटी थी और महरु वह अल्प खान की बहन थी और जलालुद्दीन उसके चाचा थे उसकी बेटी से Alauddin Khilji ने शादी की थी।

Alauddin khilji movie :-


Alauddin Khilji के चरित्र पर 2018 में फिल्म भी बनाई गई है। उसमें चित्तौड़ और मेवाड़ में जो युद्ध हुआ था उसके बारे में भी बताया गया है।

उसमें किस तरह से रानी पद्मिनी ने अपनी लाज बचाए रखने के लिए जोहर किया था उसके बारे में भी पूरा वर्णन किया गया है।

रानी पद्मिनी का रोल मोस्ट पॉपुलर एक्ट्रेस दीपिका पदुकोण ने निभाया है और खिलजी कैसा था वह चलचित्र बताने के लिए रणवीर सिंह ने Alauddin Khilji का रोल निभाया है

फिल्म में बताए गए रोज से पता चलता है कि खिलजी कितना क्रूर व्यक्ति था उस फिल्म का नाम पद्मावत है। इस फिल्म को लेकर काफी कॉन्ट्रोवर्सी भी हुई थी और काफी बवाल भी मचा हुआ था।

बीच फिल्म रिलीज हुई हुई और बहुत ही तेजी रही और उसका कलेक्शन  585 करोड रहा था।

यह फिल्म भारतीय ऐतिहासिक फिल्म रही है। पद्मावत फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली ने किया था। इसमें सब बताया गया है कि किस तरह से Alauddin Khilji ने चित्तौड़ के राजा रावल रतन सिंह पर आक्रमण किया।

क्योंकि वह रानी पद्मिनी के अलौकिक सौंदर्य पर मोहित हो गया था और उसने आवेश में आकर चित्तौड़ पर चढ़ाई कर दी थी

और वह अंत में चित्तौड़ जीत गया और रानी पद्मिनी ने अपने मान सम्मान और गौरव के लिए किले की बाकी स्त्री यो से मिलकर मृत्यु को अपना लिया और जोहर कर लिया।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post